Skip to content

7088030007

support@khelspace.com

Fitness

"कृकेट मैदान पर खिलती AI और ML: नए तकनीकी सफलता"

by Sarbjeet Singh 02 Jul 2023
"कृकेट मैदान पर खिलती AI और ML: नए तकनीकी सफलता"

Introduction:

क्रिकेट, विश्व भर में लोकप्रियता प्राप्त करने वाला एक खेल है जिसमें तकनीकी प्रगति का महत्वपूर्ण योगदान है। बार-बार तकनीकी उन्नति के साथ, Artificial Intelligence (AI) और Machine Learning (ML) क्रिकेट में अपनी जगह बना रहे हैं। AI और ML के उपयोग से खिलाड़ियों, अम्पायरों, कोचों, तथा भक्तों को खेल में और अच्छा अनुभव प्रदान किया जा रहा है। इस लेख में, हम क्रिकेट में AI और ML की भूमिका पर विचार करेंगे और भविष्य में इन तकनीकों के उपयोग से क्रिकेट की संभावित बदलती दुनिया के बारे में चर्चा करेंगे।

 

क्रिकेट, जो इंग्लैंड में अवधि के अंत में मनोरंजन के लिए आरंभ किया गया था, विश्व का दूसरा सबसे लोकप्रिय खेल बन गया है, जो दुनिया भर के लाखों फैन्स को मोह लेता है। वर्षों के साथ, टेक्नोलॉजी ने क्रिकेट को खेलने, प्रसारित करने, और फैंसों के अनुभव को क्रांतिकारी बना दिया है। प्रगतिशील प्रसारण तकनीक से लेकर खेल के क्षेत्र में उन्नत तकनीकी समाधानों तक, क्रिकेट ने इनोवेशन को अपनाया है, जिससे खेल और रोचक और सटीक बना है।

क्रिकेट टेलिकास्ट की तकनीकी विकास: क्रिकेट प्रसारण का सफर अख़बारों से शुरू हुआ और अब ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म्स तक पहुँच गया है, जो वैश्विक रूप से बड़े दर्शकों को आकर्षित करता है। तकनीकी प्रगति ने सुनामी की तरह आकर्षक पलों को, जैसे 1983 विश्व कप में कपिल देव के 175* रन नॉटआउट की कहानी, को कैद किया है और इसे विश्वभर के क्रिकेट प्रेमियों के साथ साझा किया गया है।

खेल के क्षेत्र में तकनीक की उभरती हुई प्रासंगिकता: क्रिकेट की तकनीकी विकास टेलिकास्टिंग से सीमित नहीं है, यह खेल खुद में भी प्रविष्टि कर चुकी है, खिलाड़ियों की प्रशिक्षण, यूंपायरिंग निर्णय, और दर्शकों को जोड़ने में मदद करती है। यहां क्रिकेट में कुछ महत्वपूर्ण तकनीकी नवाचार हैं:

बोलिंग मशीन (बोला, 1984): बोलरों की सहायता करने और बल्लेबाजों की प्रशिक्षण में सहायता करने के लिए डिज़ाइन की गई बोलिंग मशीन भौतिकी का उपयोग करती है, जो गोला जाहिर करने, यथार्थ तथा नियमित डिलीवरी प्रदान करती है।

अल्ट्रा एज (स्निको, 1990): ध्वनि और दृश्यीय डेटा का संयोजन करने वाला अल्ट्रा एज यूंपायर को यह निर्धारित करने में मदद करता है कि क्या बल्लेबाज ने सचमुच गेंद में छेद किया है, जो कॉट बेहिंद, बैट-पैड, और एलबीडब्ल्यू अपील के लिए महत्वपूर्ण है।

स्पीड गन (1999): कोच, खिलाड़ी, और दर्शक गेंदबाजों की डिलीवरी की गति को मापने और प्रदर्शित करने के लिए स्पीड रडार गन का उपयोग करते हैं, जो उनके प्रदर्शन के बारे में अनुभव कोई जानकारी प्रदान करता है।

हॉकआई (2001): हॉकआई तकनीक यूंपायरों की मदद करके यह निर्धारित करती है कि गेंद बोलर के हाथ से छूटने के बाद किस दिशा में जाएगी, यह प्रमुख रूप से लेग बिफोर विकेट (एलबीडब्ल्यू) अपील के लिए उपयोग होती है।

स्पाइडरकैम (2003): पिच से ऊपर तारों पर सस्पेंड किए गए स्पाइडरकैम पब्लिक को डाइनेमिक कैमरा एंगल प्रदान करता है, जो दर्शकों के लिए दृश्यीय अनुभव को समृद्ध करता है।

हॉटस्पॉट (2006): अल्ट्रा एज का एक उन्नत संस्करण, हॉटस्पॉट इंफ्रारेड इमेजिंग का उपयोग करके निर्धारित करता है कि क्या गेंद बल्लेबाज, बैट या पैड को छूआ है, जो सटीक निर्णय लेने में मदद करता है।

डिसिजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस, 2009): डीआरएस खिलाड़ी को यूंपायर निर्णय पर सवाल उठाने और उन्हें फिर से जांचने का मौका देता है, इससे गलत निर्णयों की संख्या कम होती है और खेल में न्यायपूर्णता को बढ़ाता है।

वीर्टुअल रियलिटी (वीआर, 2016): वीआर क्रिकेट में एक नया उच्चारण बना रहा है, खिलाड़ियों को खुद को मध्य में महसूस करने और वास्तविकता जैसी परिस्थितियों का अनुभव करने का मौका देता है।

ये कुछ उदाहरण हैं जो दिखा रहे हैं कि क्रिकेट में तकनीक कैसे खेल को रोचक, सटीक और उत्कृष्ट बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इन तकनीकी उन्नतियों ने क्रिकेट के मानचित्र को बदल दिया है और इसे और भी रोचक और उत्कृष्ट बनाया है।

क्रिकेट में Artificial Intelligence (AI) और Machine Learning (ML) की भूमिका:

Hawkeye के साथ Decision Review System: AI-संचालित Hawkeye प्रौद्योगिकी बहुत सारे कैमरों से डेटा प्रसंस्करण करती है और गेंद की स्थिति का त्रिकोणात्मक मापन करती है, DRS समीक्षाओं के दौरान अधिक सटीक निर्णय में मदद करती है।

Duckworth-Lewis Method (DLS): ML और DL मॉडल का उपयोग करके, DLS विधि बारिश-प्रभावित मैचों में संशोधित लक्ष्य स्कोर्स की गणना करती है, इससे दोनों टीमों के लिए एक निष्पक्ष परिणाम सुनिश्चित होता है।

Power Bat (Spektacom) के साथ कोचिंग AI: Power Bat प्रौद्योगिकी बल्लों पर सेंसर्स का उपयोग करके बैटिंग प्रदर्शन पर वास्तविक समय में डेटा एकत्र करती है, खिलाड़ियों को तकनीकों का विश्लेषण करने और सुधार करने में मदद करती है।

लाइव मैच की पूर्वानुमान: AI-संचालित मशीन लर्निंग मॉडल का उपयोग मैच के परिणामों की पूर्वानुमानित करने में किया जाता है, जो फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म और बेटिंग साइटों के लिए मूल्यवान होता है।

क्रिकेट में AI का भविष्य:

क्रिकेट में AI की क्षमता विशाल है और इसके लागू होने की सीमा आगे बढ़ती जा रही है। कुछ रोचक संभावनाएं शामिल हैं:

AI-उत्पन्न क्रिकेट स्टेडियम: AI इंडोर या बंद स्टेडियमों के डिज़ाइन में मदद कर सकती है, मैचों पर अनुकूलता बढ़ाती है, खिलाड़ियों के प्रदर्शन को बेहतर बनाती है, और आपूर्ति को सुनिश्चित करती है।

CRICKO (स्वचालित कैमरा): AI द्वारा सहायता प्राप्त करने वाले स्वचालित कैमरे, प्रत्येक शॉट के कई दृश्यों की प्रदान कर सकते हैं, व्यापक दर्शकों की आकर्षण के लिए मदद करते हैं और इमर्सिव अनुभव की अनुमति देते हैं। AI वास्तविक समय में खेल का विश्लेषण कर सकती है, स्वचालित रूप से सबसे आकर्षक पलों का चयन कर सकती है और दर्शकों को उन्नत कवरेज प्रदान कर सकती है।

खिलाड़ी के प्रदर्शन का विश्लेषण: AI एल्गोरिदम वेयरेबल उपकरण और सेंसर्स के माध्यम से एकत्रित खिलाड़ी के प्रदर्शन डेटा का विश्लेषण कर सकते हैं, बैटिंग, गेंदबाजी, और फील्डिंग तकनीकों में विस्तृत जानकारी प्रदान कर सकते हैं। इस विश्लेषण से खिलाड़ी अपने मजबूती, कमजोरी और सुधार करने के क्षेत्रों की पहचान कर सकते हैं, जो प्रशिक्षण और प्रदर्शन में अधिक प्रभावी बनाने में मदद करेगा।

चोट रोकथाम और खिलाड़ी सुरक्षा: AI खिलाड़ी का भार, बायोमैकेनिकल डेटा का विश्लेषण करने और संभावित चोट जोखिमों की पहचान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। खिलाड़ी के प्रदर्शन और चोट डेटा में पैटर्न और संबंधों का पता लगाकर, AI एल्गोरिदम कोच और चिकित्सा स्टाफ को सूचित निर्णय लेने में मदद कर सकते हैं ताकि चोटों को रोका जा सके और खिलाड़ी की स्वास्थ्य को अच्छा बनाया जा सके।

वर्चुअल रियलिटी प्रशिक्षण: AI-संचालित वर्चुअल रियलिटी (VR) सिमुलेशन खिलाड़ियों को यथार्थ प्रशिक्षण परिस्थितियों के साथ प्रदान कर सकते हैं, जिससे उन्हें नियंत्रित और इमर्सिव वातावरण में अपनी कौशल को साफ़ करने और संविधानिक विश्लेषण करने की सुविधा मिलती है। VR प्रशिक्षण खिलाड़ियों को निर्णय लेने की क्षमता, परिस्थिति जागरूकता, और रणनीति समझ में मदद कर सकता है।

अंपायर सहायता: AI प्रौद्योगिकी अंपायर को वास्तविक समय में सटीक निर्णय लेने में मदद कर सकती है। गेंद के त्राजेक्ट्री, गति, और अन्य कारकों का विश्लेषण करके, AI एल्गोरिदम अंपायर को तत्परता, रन आउट और अन्य महत्वपूर्ण निर्णयों में तत्परता प्रदान कर सकते हैं।

बेहतर भक्तों का संवाद: AI व्यक्तिगत प्राथमिकताओं पर आधारित तालिका, आंकड़े और हाइलाइट्स प्रदान करके भक्तों का अनुभव व्यक्तिगत बना सकता है। AI द्वारा संचालित चैटबॉट भक्तों के साथ संवाद कर सकते हैं, प्रश्नों का उत्तर दे सकते हैं, और मैच के दौरान वास्तविक समय में अपडेट प्रदान कर सकते हैं, जिससे भक्तों का संवाद और संतुष्टि में वृद्धि होती है।

पूर्वानुमानात्मक विश्लेषण: AI और मशीन लर्निंग का उपयोग इतिहासिक डेटा, खिलाड़ी के प्रदर्शन, और मैच की स्थितियों का विश्लेषण करने के लिए किया जा सकता है, जिससे मैच के परिणाम, खिलाड़ी के प्रदर्शन, और खेल के महत्वपूर्ण क्षणों के बारे में सटीक पूर्वानुमान बना सकते हैं। यह खेल सट्टा और फेंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्मों में रोमांच और रणनीति को जोड़ सकता है।

समापन:

क्रिकेट में AI का भविष्य विभिन्न स्तरों पर खेल को बढ़ाने की अविश्वसनीय क्षमता रखता है। AI-उत्पन्न स्टेडियम से इमर्सिव कैमरा दृश्य, खिलाड़ी के प्रदर्शन विश्लेषण, चोट रोकथाम, वर्चुअल रियलिटी प्रशिक्षण, अंपायर सहायता, भक्तों के संगीत करने, और पूर्वानुमानात्मक विश्लेषण तक, AI खेल की क्रांति करने के लिए तैयार है। प्रौद्योगिकी में निरंतर उन्नति और AI एल्गोरिदमों के सम्मिलन से, क्रिकेट खिलाड़ियों और भक्तों के लिए और भी सटीक, मनोहारी, और दिलचस्प होने की संभावना है।

Prev Post
Next Post

Thanks for subscribing!

This email has been registered!

Shop the look

Choose Options

Edit Option
Have Questions?
Back In Stock Notification
Compare
Product SKURatingDescription Collection Availability Product Type Other Details
this is just a warning
Login
Shopping Cart
0 items